23 Oct 2019, 19:18:17 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

दूसरे दिन भी जारी रहा अव्यवस्था का आलम

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Sep 22 2019 8:10PM | Updated Date: Sep 22 2019 8:10PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

चंडीगढ़। हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग की प्रदेशभर में क्लर्क पद की लिखित परीक्षा के दूसरे दिन भी आज अव्यवस्था का आलम रहा और खासकर परिवहन की खासी समस्या रही। सिरसा से मिली रिपोर्टों के अनुसार परीक्षा देने आई युवतियों के गहने, चूड़यिां, गले के लॉकेट, हेयर बैंड तक उतरवाए गए। कई युवतियों व युवकों ने जब इसका विरोध किया तो तैनात कर्मचारियों ने इसे आयोग की हिदायतों का हिस्सा बताया। परीक्षा केंद्रों के इर्द-गिर्द धारा 144 लगाई गई है। सोहना की मनीषा, रोहतक की प्रीति, महेंद्रगढ़ की आशा, कैथल की सुमन ने बताया कि पेपर तो ठीक था। चुनाव आचार संहिता लग गई है अब पता नहीं कब रिजल्ट आएगा, क्या होगा। 

वहीं परीक्षार्थियों को वापिस घरों को लौटने के वक्त बसों के लिए काफी मश्कत करनी पड़ी। सिरसा डिपो की ओर से 20 बसों की विशेष व्यवस्था की गई थी मगर परीक्षार्थी बहुत अधिक होने के कारण अव्यवस्था रही। पुरुष परीक्षार्थियों को बस के ऊपर व पीछे लटक कर जाना पड़ा। जिन महिलाओं के छोटे बच्चे थे उनको खासी परेशानी झेलनी पड़ी। सिरसा जिले में स्थापित किए गए 75 परीक्षा केंद्र स्थापित किये गये हैं जिनमें लगभग 18 हजार परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। जिला शिक्षा अधिकारी राजेश चौहान ने बताया कि  प्रात: कालीन सत्र में 10.30 से 12 बजे तक व सायंकालीन सत्र में 3 से 4.30 बजे तक लिखित परीक्षाएं आयोजित की गई। उधर जींद से मिली खबरों के अनुसार परीक्षा के बाद जींद डिपो में बसों की कमी आज उस समय बहुत खली, जब दोपहर को परीक्षार्थियों की भारी भीड़ उमड़ी और काफी इंतजार के बाद बसों में  यात्रियों को सीटें नहीं मिल पाई। परीक्षा को देखते हुए डिपो  प्रबंधन ने कुछ अतिरिक्त बसें दूसरे रूटों पर भेजीं तो भिवानी और चंडीगढ़  रूट पर यात्रियों को बस के इंतजार में कई घंटे जींद बस अड्डे पर ही बिताने  पड़े।

जींद के अधिकतर परीक्षार्थियों का परीक्षा  केंद्र जहां महेंद्रगढ़, करनाल, अंबाला, पंचकूला, फरीदाबाद में आया था। वहीं कई जिलों से हजारों की संख्या में परीक्षार्थी जींद आये थे। बूथों पर निजी बसें लगती रही लेकिन वह अंतर जिला नहीं होकर लोकल रूटों तक ही जा पा रही थीं। जींद में  परीक्षा देने के लिए पहुंचे हजारों परीक्षार्थियों के वाहनों के रेले के आगे जींद शहर की तमाम सड़कों पर जाम ही जाम लगा रहा। जाम से आम शहरी को भी भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। सबसे बुरी हालत दोपहर बाद बनी, जब पहली शिफ्ट में परीक्षा देकर परीक्षार्थी वाहनों में सड़कों पर आए। इसी समय दूसरी शिफ्ट के परीक्षार्थी भी अपने वाहन लेकर जींद पहुंच गए थे। नतीजा यह था कि दोपहर पूरा शहर जाम  था। दिल्ली और गुरुग्राम जैसे महाजाम की एक हल्की सी झलक रविवार को जींद  शहर के लोगों ने भी देखी। 

 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »