23 Aug 2019, 21:48:31 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

वाराणसी में कूड़े से बनेगी बिजली, एनटीपीसी ने नगर निगम से किया करार

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 17 2019 7:46PM | Updated Date: Jul 17 2019 7:46PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के वाराणसी में कूड़े-कचरे से बिजली बनाने के लिए नेशनल थर्मल पॉवर कॉर्पोरेशन और नगर निगम एक प्लांट स्थापित करेगी। करीब 30 माह में पूरी होने वाली इस प्ररियोजना से यहां प्रति दिन करीब 600 मैट्रिक टन कूड़े-कचरे के निस्तारण के साथ ही पर्याप्त बिजली भी उपब्ध होगी। एनटीपीसी एवं वाराणसी नगर निगम के बीच प्लांट स्थापित करने के लिए बुधवार को यहां एक करार हुआ है। मंडालयुक्त सभागार में एनटीपीसी एवं नगर निगम के अधिकारियों ने एक सहमि पत्र (एमओयू) पर हस्ताक्षर किये। इस अवसर पर महापौर मृदुला जायसवाल, मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल, एनटीपीसी के महाप्रबंधक अमित कुमार कुलश्रेष्ठ, सलाहकार आर0 के0 बड़ेरिया, नगर आयुक्त आशुतोष कुमार द्विवेदी मौजूद थे।

एमओयू पर हस्ताक्षर के बाद प्रसन्नता व्यक्त करते हुए महापौर जायसवाल ने कहा कि वाराणसी को अच्छा बनाने का हमेशा प्रयास रहा है। एनटीपीसी का सहयोग सराहनीय है। शहर को साफ-सुथरा एवं पर्यावरण अनुकूल बनाने में यह परियोजना महत्वपूर्ण साबित होगी। अग्रवाल ने बताया कि 250 से 300 करोड़ रुपए अनुमानति लागत वाली इस परियोजना के लिए नगर निगम जमीन उपलब्ध करायेगी और बाकी पूरा खर्च एनटीपीसी वहन करेगी। यह परियोजना 30 माह में पूरी होगी। उन्होंने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि इससे वाराणसी में प्रति दिन करीब 600 मैट्रिक टन कूड़े-कचरे के निस्तारण के साथ ही बिजली भी उपब्ध होगी।

अग्रवाल ने कहा कि पवित्र सावन माह के प्रथम दिन प्लांट स्थापित करने के लिए सहमति पत्र पर हस्ताक्षर होना शुभ एवं यहां पर्यावरण स्वच्छ बनाने की दिशा में एक बड़ा कदम है। उन्होंने कहा कि वाराणसी के लिए आज का दिन गौरवान्वित होने का है क्योंकि कूड़े-कचरे बिजली बनाने वाली यह पहली परियोजना है। एनटीपीसी के अधिकारियों ने बताया कि प्लांट में कूड़ा-कचरा को अलग-अलग करके कचरे से विद्युत एवं अन्य पदार्थों से सिविल कंस्ट्रक्शन मैटेरियल बनाया जाएगा। एनटीपीसी का ‘वेस्ट टू इनर्जी’ विंग की देखरेख में प्लांट का निर्माण एवं संचालन किया जाएगा। वाराणसी में ‘इंटीग्रेटेड वेस्ट टू इनर्जी’ का इतनी बड़ी क्षमता का यह पहला प्रोजेक्ट होगा।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »