25 Jun 2019, 17:31:27 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android

नई दिल्ली। इस स्कीम का नाम किसान विकास पत्र है। आप इसमें महज 1 हजार रुपए लगाकर शुरूआत कर सकते हैं। बता दें कि यह एक तरह का प्रमाण पत्र होता है, जिसे कोई भी व्यक्ति खरीद सकता है। इसे बॉन्ड की तरह प्रमाण पत्र के रूप में जारी किया जाता है। इसका इंटरेस्ट समय-समय पर बदलता रहता है। आप इसमें 50 हजार रुपए इन्वेस्ट करते हैं तो आपको 1 लाख रुपए रिटर्न मिलेंगे। तेजी से होता है पैसा डबल- इस स्कीम में 1000 रुपए के मल्टीपल में रुपए जमा करना होते हैं। यानी 1000 रु, 2000 रु, 3000 रु या फिर इसी तरह कोई अन्य अमाउंट। आपको सारा पैसा एक बार में ही देना होगा। यानी इसमें हर महीने या साल में पैसे जमा करने का सिस्टम नहीं है। जैसे आपको 1 लाख रुपए के 2 लाख करने हैं, तो इसके लिए आपको पूरे 1 लाख रुपए स्कीम लेते समय जमा करने होंगे, जो 9 साल 10 महीने के बाद 2 लाख रुपए बन जाएंगे। पोस्ट ऑफिस द्वारा इस अकाउंट के लिए पासबुक भी दी जाती है।
बस 1000 रुपए से करें शुरुआत, क्या है किसान विकास पत्र
एक तरह का प्रमाण पत्र होता है, जिसे कोई भी व्‍यक्ति खरीद सकता है। इस पर एक तय मुनाफा मिलता है। इसे देश में किसी भी पोस्ट ऑफिस से खरीदा जा सकता है। 1 अक्टूबर 2018 से इस पर 7.7 फीसदी का ब्‍याज मिल रहा है।
 
कितना पैसा लगाना होगा
किसान विकास पत्र में निवेश करने की कोई ऊपरी सीमा नहीं है। हालांकि आपका न्‍यूनतम निवेश 1000 रुपए का होना चाहिए। आप 1000 रुपए के मल्टीपल में कितनी भी राशि निवेश कर सकते हैं। मतलब आप 1500 या 2500 या 3500 का निवेश नहीं कर सकते हैं।
कौन खरीद सकता है
पोस्ट फिस की किसी भी ब्रांच से आप किसान विकास पत्र खरीद सकते हैं। आप किसी बच्‍चे यानी माइनर के लिए भी इसे खरीद सकते हैं। 2 लोगों के नाम पर भी इसे खरीदा जा सकता है।
कितने समय बाद निकाल सकते हैं पैसा
अगर आप अपना निवेश निकालना चाहते हैं तो आपको कम से कम 2.5 साल का इंतजार करना होगा। हालांकि फाइनेंशियल एक्‍सपर्ट इसमें लंबे समय के निवेश की सलाह देते हैं।
कितने समय में डबल होता है पैसा
अगर आप किसान विकास पत्र में पैसा लगाते हैं तो यह मौजूदा 7.7 फीसदी की सालाना ब्‍याज दर के हिसाब से 118 महीनों यानी 9 साल और 10 महीने में डबल हो सकता है।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »