23 Oct 2019, 18:24:48 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

विकीलीक्स संस्थापक के साथ आतंकवादियों से भी ज्यादा बुरा बर्ताव : क्रिस्टीन

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Sep 22 2019 3:11PM | Updated Date: Sep 22 2019 3:11PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

मॉस्को। विकीलीक्स के एडीटर इन चीफ क्रिस्टीन हराफनसन ने आरोप लगाया है कि विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे के साथ ब्रिटेन के अधिकारी आतंकवादियों से भी बुरा बर्ताव कर रहे हैं और उन्हें अदालती कार्रवाई की तैयारी करने से रोक कर रहे हैं। हराफनसन ने कहा, ‘‘ जूलियन असांजे को अदालत की कार्रवाई से संबधी तैयारी करने के लिए कोई भी साधन मुहैया नहीं कराया जा रहा हैं और उन्हें  24 घंटे केवल जेल में ही रखा जा रहा है। उन्होंने ब्रिटेन के अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि असांजे को केवल कुछ दिनों पहले अदालती  कार्रवाई की तैयारी करने के लिए कुछ दस्तावेज मुहैया कराये गए थे और उनके वकीलों से मिलने की अनुमति दी गयी थी। उन्होंने कहा कि ब्रिटिश न्याय प्रणाली जूलियन के लिए अपने मामले को स्वयं तैयार करने के लिए अड़चने पैदा कर रही है। 
 
हराफनसन ने कहा कि असांजे के साथ अधिकतर समय आतंकवादियों तथा अपराधियों जैसा बर्ताव किया जा रहा है। यदि वह दोषी पाए जाते है तो उन्हें 175 वर्ष की सजा होगी जो कि सरासर गलत है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि ब्रिटेन के अधिकारी अमेरिका के दबाव में काम कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2012 में 11 अप्रैल को असांजे को लन्दन में गिरफ्तार कर लिया गया था और 50 सप्ताह की सजा सुनाई गयी थी। उन पर स्वीडन में एक महिला के साथ दुष्कर्म के आरोप लगे थे। अमेरिका ने असांजे के प्रत्यपर्ण के लिए ब्रिटेन से अनुरोध भी किया है और उन्हें अमेरिका को सौंपने की बात भी कही जा रही थी। असांजे के प्रत्यर्पण मामले की अगली सुनवाई  25 फरवरी  2020 को तय है। अंसांजे तब सुर्खियों में आये थे जब वर्ष 2010 में उन्होंने कई गोपनीय राजनीतिक दस्तावेजों को इंटरनेट पर सार्वजनिक किया था जिसमें अफगानिस्तान और इराक में अमेरिकी सेना द्वारा किए  युद्ध अपराधों के दुरुपयोग से जुड़े दस्तावेज भी शामिल थे। 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »