08 Dec 2019, 08:20:51 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

370 ने बढ़ाई लालू की परेशानी- डाइट में नहीं मिल पा रहा पसंदीदा कश्मीरी सेब

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Aug 13 2019 2:59PM | Updated Date: Aug 13 2019 3:01PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

रांची। जम्मू-कश्मीर से 370 हटाने के साथ की घाटी में शांति का माहौल बना हुआ है, लेकिन इस धारा को हटाए जाने के बाद आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की बड़ी परेशानी सामने आई है। इसका असर लालू प्रसाद यादव की डाइट पर भी पड़ रहा है। घाटी में तनाव की वजह से वो उन्हें उनका पसंदीदा कश्मीरी सेब नहीं मिल पा रहा है। दरअसल लालू चारा घोटाले के कई मामलों में सजा काट रहे हैं। तबीयत खराब होने की वजह से लालू इन दिनों रांची के रिम्स हॉस्पिटल में भर्ती हैं। वहां उनका इलाज चल रहा है।
 
रांची के राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स) के डॉक्टरों ने लालू को नाश्ते में दो सेब, चार अंडो का सफेद भाग,बादाम अखरोट के साथ दिन में एक आम खाने को कहा है। रिम्स में इलाज करा रहे लालू सेब नहीं खा पा रहे हैं, क्योंकि वो कश्मीरी सेबों के अलावा मुश्किल से ही कोई सेब खाते हैं। लेकिन घाटी में तनाव का असर कश्मीरी सेबों पर भी पड़ा है। कश्मीरों सेबों के ट्रांसपोटेशन में तनाव की वजह से असर पड़ा है। हमने रांची में बहुत खोजा पर हमें कश्मीरी सेब नहीं मिला।
 
लालू की नियमित निगरानी करने वाले डीके झा ने कहा कि हमने उन्हें दो सेब खाने की सलाह दी है। क्योंकि सेब में फाइबर ज्यादा मात्र में होते हैं। इसके अलावा सेब में विटामिन और एंटी-ऑक्सीडेंट भी बहुतायात में पाया जाता है। ये फल विशेष रुप से डायबिटीज के रोगियों को खाने के लिए कहा जाता है, क्योंकि इसमें हाइपोग्लाइसेमिक प्रभाव होता है। हालांकि हमने सेब के किसी प्रकार की सलाह उन्हें नहीं दी है।
गौरतलब है कि इससे पहले लालू का शुगर लेवल आम खाने की वजह से लगातार बढ़ रहा था।
 
इस वजह से डॉक्टरों ने इस वजह से उनके आम खाने पर रोक लगा दी। दरअसल डॉक्टरों ने उनसे एक दिन में एक आम खाने को कहा था। लेकिन वो उससे ज्यादा आम खा रहे है। डॉक्टरों की सख्त हिदायत थी कि वो किसी भी हाल में एक आम से ज्यादा ना खाएं। लालू के करीबी सुरिंदर यादव ने हॉस्पिटल में मीडिया से कहा कि लालू यादव को लंबे समय से कश्मीरी सेबों का इंतजार था। वो कश्मीरी सेब पसंद करते हैं।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »