23 Sep 2019, 23:27:01 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Lifestyle

भविष्य में कभी नही आएगी दिक्कत इन तरीकों से जुड़े,अपने बच्चों की रियल लाइफ से

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 31 2019 11:04AM | Updated Date: Jul 31 2019 11:04AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नईदिल्ली। हर माता-पिता की चाहत होती हैं कि उनका बच्चा एक अच्छा और आत्मनिर्भर इंसान बने जिसे जीवन में किसी के सहारे की जरूरत ना पड़े। इसके लिए माता-पिता को भी अच्छी मेहनत करनी पड़ती है और बच्चों को ख्वाबों की दुनिया से निकालकर असल जीवन के गुर सिखाने की जरूरत होती हैं। आजकल के बच्चों की जिंदगी मोबाइल और टीवी तक ही सिमित हो गई हैं। ऐसे में जब भी बच्चों को अकेले रहना पड़ता हैं तो वे खुद कुछ नहीं कर पाते हैं। इसके लिए जरूरी हैं कि अपने बच्चों को रियल जिंदगी से जुड़े तौर-तरीके समय रहते सिखाये जाए जिससे उन्हें भविष्य में कोई दिक्कत ना आए।
 
रियल लाइफ से जुड़े कुछ तत्थ-
 
1- गिनती करना सिखाएं- बच्चों को गिनती सिखाने के लिए कलरफूल ब्लॉक्स का इस्तेमाल करें। उऩ्हें इनकी मदद से न केवल गिनती बल्कि प्लस व घटाव करना भी सिखाएं।
 
2- मौसम की दे जानकारी- भारत में हर दो से तीन महीने बाद मौसम में बदलाव होता है, इसलिए उन्हें एक दिन बिठा कर सभी मौसमों के बारे में जानकारी दें। इसके लिए एक पेपर पर अलग अलग चीजों का इस्तेमाल करके सभी तरह के मौसम बनाएं, फिर बच्चों को उनकी पहचान बताएं। उन्हें समझाएं इस मौसम में क्या क्या होता हैं।
 
3- टेबल मैनर्स के बारे में दे जानकारी- घर पर खाना खाते हुए बच्चों को टेबल पर बिठा कर खाना खाने को कहें। उऩ्हें बताएं कि बाहर जाते समय किस तरह से खाना खाएं, टेबल पर पड़ी चीजों का किस तरह से इस्तेमाल करना चाहिए।
 
4- याद रखें वह अपनी रुटिन- अनुशासन में रहना बच्चों को न केवल घर में बल्कि घर के बाहर जैसे की स्कूल व कॉलेज में भी काफी काम आएगा, इसलिए उन्हें शुरु से ही अनुशासन में रहना सिखाएं। उनके कमरे व बॉथरुम में छोटी छोटी पर्चियां लगा दें जिससे कि वह अपने रुटिन व टाइम टेबल को याद रख सकें। इसमें उनके होमवर्क, खेलने का समय, ब्रश करना, प्रार्थना, रैडी होना सब काम लाइन वाइस लिखें हो।
 
5- पहनना सिखाएं कपड़े- बच्चे स्कूल जाना शुरु कर देते है लेकिन उन्हें अच्छे से खुद को ड्रेसअप करना नहीं आता होता है, इसलिए उऩ्हें छुट्टी वाले दिन खुद ही ड्रेसअप होने के लिए कहें। उन्हें कहें कि वह खुद अपने लिए कपड़े निकाले, जिससे उन्हें पता लगे कि उनके लिए क्या पहना अच्छा हैं।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »