08 Dec 2019, 08:18:53 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Health

सिर्फ कानों को नहीं पूरे शरीर को नुकसान पहुंचाता है ईयरफोन

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Aug 11 2019 12:45AM | Updated Date: Aug 11 2019 12:45AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

आप पूरा दिन ऑफिस में ईयरफोन लगाकर गाने सुनते हुए काम करते हैं? क्या ऑफिस जाते वक्त, आते वक्त और घर में भी हर वक्त आपके कान में ईयरफोन लगा रहता है? अगर इन सभी सवालों का जवाब हां है तो आज ही अपनी ये आदत बदल दें क्योंकि आपकी ये आदत कानों के साथ-साथ आपके पूरे शरीर को भारी नुकसान पहुंचाती है। एक स्टडी के अनुसार अगर कोई व्यक्ति 2 घंटे से अधिक समय तक 90 डेसिबल से अधिक आवाज में संगीत सुनता है, तो उसे कई बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है...

हार्ट बीट तेज- तेज आवाज में संगीत सुनना कानों के साथ-साथ दिल के लिए भी अच्‍छा नहीं होता। तेज अवाज में गाने सुनने से हार्ट बीट तेज हो जाती है और वह नॉर्मल स्पीड से तेज चलने लगती है। इससे दिल को नुकसान हो सकता है। इसके अलावा, कैंसर होने के भी चांस बढ़ जाते हैं।
 
​नींद न आने की समस्‍या- हेडफोन और ईयरफोन से निकलने वाली तरंगों से ब्रेन पर बुरा असर पड़ता है। यही वजह है कि ईयरफोन के अधिक प्रयोग से आपको सिर दर्द या नींद न आने जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।
 
डेड हो सकती हैं कान की नसें- तेज आवाज के चलते आपके कान के पर्दे में लगातार वाइब्रेशन होती रहती है जिस कारण कान के पर्दे के फटने का खतरा रहता है। आपको बता दें कि आमतौर पर इंसान के कान 65 डेसिबल की आवाज सहन कर पाते हैं लेकिन ईयरफोन पर लगातार 90 डेसिबल से अधिक आवाज़ में गाने सुनने पर कान की नसें पूरी तरह डेड हो सकती हैं।
 
इंफेक्‍शन फैलना- अमूमन देखा जाता है कि एक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति से अपने ईयरफोन को शेयर करता है, जो कभी नहीं करना चाहिए। इससे एक-दूसरे में इंफेक्‍शन फैलने की संभावना बहुत ज्‍यादा होती है। जब भी किसी के साथ आप ईयरफोन या हेडफोन शेयर करें तो सबसे पहले उसे सैनिटाइजर से अच्छी तरह साफ करना ना भूलें।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »