10 Dec 2019, 22:23:51 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
entertainment » Bollywood

अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह के लिए थीम सांग तैयार

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Nov 14 2019 12:27AM | Updated Date: Nov 14 2019 12:30AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। गांधी, आवारा, बाहुबली और बाजी राव मस्तानी समेत 56 चर्चित देशी-विदेशी फिल्मों की क्लिप से तैयार थीम सांग को 20 नवम्बर से शुरू हो रहे 50 वें अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह के उद्घाटन में दिखाया जाएगा और इस समारोह के लिए रेडियो जिंगल भी तैयार किया गया है। सुप्रसिद्ध नृत्यांगना गीता चंद्रन और ग्रैमी अवार्ड विजेता संगीतकार रिकी रोज ने यह थीम सांग तैयार किया है। यह सांग नौ रसों पर आधारित है। सूचना प्रसारण सचिव अमित खरे, गीता चंद्रन और रिकी रोज तथा फिल्म समारोह आयोजन समिति के सदस्य एवम लव स्टोरी फिल्म के निर्माता राहुल रवैल ने बुधवार को यहां इस मनमोहक थीम सांग को जारी किया।       

खरे ने पत्रकारों से कहा कि 20 नवम्बर से 50 वां अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह  गोआ के पणजी में आयोजित किया जा रहा है जिसमें 76 देशों की 200 से अधिक फिल्में दिखाई जा रही है। उस समारोह के लिए पद्मश्री से सम्मानित नृत्यांगना गीता चंद्रन और उनके सहयोगी रिकी रोज ने एक सुंदर थींम  सांग तैयार किया है जिसकी अवधि करीब पौने तीन मिनट है। भारत में संगीत नृत्य एवं थिएटर की हज़ारों वर्ष पुरानी परंपरा रही है जिसे इस थीम सांग में  फिल्मों से जोड़कर तैयार किया गया है। इसे राष्ट्रीय फिल्म विकास निगम ने तैयार किया है।         

चंद्रन ने कहा कि इस थीम सांग के लिए 55 चुनिंदा फिल्मों की क्लिप्स को चुना गया है और इसमें श्रृंगार रस, अदभुत रस, रौद्र रस, हास्य रस, वीर रस ,करुणा रस, वीभत्स रस, शांत रस भयानक रस को दिखाया गया है। इस लघु फिल्म में धप्पा, मकबूल, सलाम बॉम्बे, तारे जमीन पर, हेल्लरो आदि शामिल है। उन्होंने बताया कि इस लघु फिल्म में गीता चन्द्रन के अलावा भारती शिवजी अरुणा मोहंती राजेन्द्र गंगानी जैसे नर्त्तक एवम नृत्यांगनाएं है। इस लघु फिल्म में नरगिस, दीप्ति नवल, प्रियंका चोपड़ा और ओम पुरी तथा बिन किंग्सले जैसे लोगों के फुटेज भी हैं। उन्होंने कहा कि नौ रसों से ही हमारी कला के सम्पूर्ण भाव व्यक्त होते है। इसमें नृत्य, संगीत, नाटक, सबको शामिल किया गया है जो भारतीय संस्कृति की विविधता है। 

 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »