20 Aug 2019, 04:25:51 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business

बर्बादी के बावजूद उछला जेट एयरवेज का शेयर

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jun 21 2019 1:30AM | Updated Date: Jun 21 2019 1:30AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

मुम्‍बई। शेयर बाजार में गुरुवार को जेट एयरवेज का शेयर  122%  चढ़ गया। विश्लेषकों का कहना है कि गुरुवार को जेट एयरवेज के शेयर में जो भारी उछाल देखा गया है, उसके पीछे भारी शॉर्ट कवरिंग है। यह तब हुआ जब कंपनी के खिलाफ दिवालिया प्रक्रिया शुरू करने पर एनसीएलटी अपना फैसला लेगा और कंपनी के शेयरों में ट्रेडिंग पर 28 जून से रोक लगने वाली है। निवेशकों को उम्मीद है कि एनसीएलटी में जेट एयरवेज को कुछ राहत मिल सकती है। 

शॉर्ट कवरिंग ने शेयर को दी ऊंचाई 
एनएसई पर शेयर 122.21 फीसदी उछकर 73.55 रुपये पर बंद हुआ। वहीं, टार्गेट इन्वेस्टिंग के फाउंडर समीर कालरा ने कहा, 'सीरीज डेरिवेटिव्स में शॉर्ट कवरिंग ने शेयर को ऊंचाई दी। इसमें अभी और तेजी आ सकती है।' मोतीलाल ओसवाल सिक्यॉरिटीज में डेरिवेटिव ऐंड टेक्निकल ऐनालिस्ट चंदन तपाड़िया ने कहा, 'शेयर बाजार जेट एयरवेज मामले की एनसीएलटी में सुनवाई में सकारात्मक नतीजों की उम्मीद कर रहा है। परिणामस्वरूप, गुरुवार को शॉर्ट कवरिंग और फॉल इन ओपन इंट्रेस्ट ने शेयर का समर्थन किया।' हाल ही में एसबीआई की अगुवाई वाले कर्जदाता बैंकों के समूह के अलावा कंपनी के पायलट और इंजीनियरों के यूनियन ने एनसीएलटी से पक्षकार बनाने की मांग की थी। इस पर आज सुनवाई शुरू होगी, जिसकी वजह से जेट के शेयर में जोरदार तेजी देखने को मिली। उम्मीद है कि एनसीएलटी में सुनवाई के दौरान कंपनी को कुछ राहत मिल जाए।
 
ट्रेडिंग पर 28 जून से रोक लगने है वाली 1.21 करोड़ शेयरों में हुई खरीदारी
एक ही दिन में कंपनी के 1.21 करोड़ शेयरों में खरीदारी देखने को मिली। यह पिछले पांच हफ्ते में पांच गुना बढ़ोतरी है। दो हफ्ते पहले इसके 23.92 लाख शेयरों की खरीदारी हुई थीं। सुबह के वक्त शेयर 27 रुपये पर खुला था, लेकिन दूसरे सत्र में इसके शेयर काफी तेजी के साथ चढ़े। 
फिलहाल 36 हजार करोड़ की देनदारी
जेट एयरवेज पर बैंक, वेंडर और कर्मचारियों का करीब 36 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का बकाया है। इसमें बैंकों का 8500 करोड़, तीन हजार करोड़ रुपये कर्मचारियों पर और 10 हजार करोड़ वेंडरों पर शामिल हैं। अभी भी कंपनी वित्त वर्ष 2018-19 और मार्च तिमाही के नतीजे जारी करने हैं।
 
सेंसेक्स में  488.89 अंकों की बढ़त 
यूएस फेडरल रिजर्व द्वारा रेट कट का संकेत देने के बाद मजबूत वैश्विक संकेतों से गुरुवार को शेयर बाजार बड़े उछाल के साथ बंद हुआ। बैंकिंग और ऑटोमोबाइल कंपनियों के शेयरों के बढ़िया प्रदर्शन से बीएसई के 30 कंपनियों के शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 488.89 अंकों (1.25%) के उछाल के साथ 39,601.63 पर बंद हुआ। वहीं, नैशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 कंपनियों के शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 140.30 अंकों (1.20%) की तेजी के साथ 11,831.75 पर बंद हुआ।   दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने 39,638.64 का ऊपरी स्तर और 38,933.78 का निचला स्तर छुआ, वहीं निफ्टी ने 11,843.50 का उच्च स्तर और 11,635.05 का निम्न स्तर छुआ। बीएसईपर 26 कंपनियों के शेयर हरे निशान पर तो चार कंपनियों के शेयर लाल निशान पर बंद हुए। एनएसई पर 42 कंपनियों के शेयरों में लिवाली, सात कंपनियों के शेयरों में बिकवाली और एक कंपनी के शेयर में कारोबार नहीं हुआ। 
 
यूएस फेडरल रेट कट का दिया संकेत 
यूएस फेडरल रिजर्व ने बुधवार को रेट में कोई बदलाव नहीं किया और अर्थव्यवस्था को विकास पथ पर अग्रसर रखने तथा अर्थव्यवस्था के परिदृश्य में अनिश्चितता में बढ़ोतरी का हवाला देते हुए जल्द ही मुख्य ब्याज दर में कटौती का संकेत दिया।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »